तेजी से बदल रहा है मौसम का हाल, तमिलनाडु-पुडुचेरी पर चक्रवात ‘निवार’ का खतरा, पहाड़ों में बर्फबारी

भारत के कई हिस्सों में मौसम तेजी से बदल रहा है। तमिलनाडु-पुडुचेरी में जहां चक्रवाती तूफान का खतरा बना हुआ है वहीं, कश्मीर, हिमाचल और उत्तराखंड में बर्फबारी से मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है। चाहे वह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली हो या फिर राजस्थान का माउंट आबू, लोगों ने अपने गर्म कपड़े निकाल लिए हैं।

मौसम विभाग ने मंगलवार को बताया कि यह चक्रवात बुधवार शाम तक तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकरा सकता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर संभव मदद का आश्वासन दिया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘चक्रवात निवार के मद्देनजर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी से बातचीत हुई, प्रभावित राज्यों को केंद्र से हरसंभव मदद मिलेगी, प्रभावित क्षेत्रों में रहने वालों की सुरक्षा और कुशलक्षेम की कामना करता हूं।’

मछुआरों को समुद्र में नहीं जाने की हिदायत दी गई है। फिलहाल दोनों ही प्रदेशों के कुछ हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है और तेज हवा चल रही है। कुछ स्थानों पर बहुत ज्यादा भारी बारिश हो सकती है। अधिकारियों ने बताया कि चेन्नई स्थित चेंबरमबक्कम समेत कई जलाशयों पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। निचले स्थानों पर रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगह पर ले जाया जा रहा है। मंगलवार सुबह यह पुडुचेरी से 440 किलोमीटर और चेन्नई से 470 किलोमीटर दूर था। यह 25 नवंबर की शाम कराईकल और मामल्लापुरम के बीच तमिलनाडु और पुडुचेरी के तट से टकरा सकता है। इसके साथ ही 100 से 110 किलोमीटर प्रति घंटा की गति से हवा चलने की आशंका है। आंध्र प्रदेश में भी तटीय और रायलसीमा क्षेत्रों के अधिकांश जिलों में अगले तीन दिनों में भारी बारिश की चेतावनी के मद्देनजर हाई अलर्ट पर रखा गया है।

कश्मीर घाटी में दूसरे दिन भी हिमपात एवं बारिश

कश्मीर के कई हिस्सों में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन हिमपात एवं बारिश हुई। मौसम विभाग ने कहा है कि बारिश एवं हिमपात के जारी रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने बताया कि पिछले 36 घंटों में घाटी के ऊंचाई वाले स्थानों पर मध्यम से भारी हिमपात हुआ है और मैदानी इलाकों में हल्का हिमपात एवं बारिश हुई है। विभाग ने बताया कि मंगलवार को कई स्थानों पर हिमपात एवं बारिश जारी रहने की संभावना है। विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि उत्तर कश्मीर के गुलमर्ग में रात के दौरान सात इंच ताजा हिमपात दर्ज की गई है जबकि पहलगाम में छह इंच दर्ज बर्फ दर्ज की गई है।

उन्होंने बताया कि ऊंचाई वाले अन्य इलाकों में भी हिमपात की खबरें हैं। इनमें सोनमर्ग जोजिला का मध्य क्षेत्र शामिल है जो श्रीनगर-लेह मार्ग पर स्थित है और घाटी को लद्दाख से जोड़ता है। उन्होंने बताया कि सड़क को सोमवार को यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। मौसम विभाग ने कहा है कि हल्की से मध्यम बारिश एवं हिमपात के बुधवार दोपहर बाद तक जारी रहने की संभावना है। ऊंचाई वाले स्थानों पर कहीं-कहीं भारी हिमपात भी हो सकता है।

राजस्थान में न्यूनतम तापमान में वृद्धि

राजस्थान में न्यूनतम तापमान में थोड़ी बढ़ोतरी दर्ज की गई है और माउंट आबू में रात का तापमान 1.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, सोमवार रात चुरू और भीलवाड़ा में न्यूनतम तापमान 8.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार डबोक में रात का न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस व चित्तौड़गढ़ में 9.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अन्य जिलों में यह 10 डिग्री सेल्सियस से 14.7 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। मौसम विभाग ने अगले चौबीस घंटे में राज्य के कई जिलों में बादल छाये रहने व हल्की बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here